DHWANI AND NAAD

ध्वनि(DHWANI) जो कुछ भी हम सुन सकते हैं उसे ध्वनि कहते हैं । हमारे चारों तरफ के आवाज़ ध्वनि है। कुछ ध्वनि सुनने में मधुर है और कुछ कर्कश । इन्ही मधुर ध्वनि के समूह से संगीत बनता है । ध्वनि की उत्पत्ति कम्पन्न से होती है । संगीत की भाषा में कम्पन्न को आंदोलन(AANDOLAN)… Continue reading DHWANI AND NAAD

UNDERSTANDING KATHAK

A very happy New Year to everyone! It has been almost a year since I published this blog. Started with a simple urge to share what I had learnt, today I am overwhelmed with the response I get for my posts. My sincere thanks for the motivation! The last year wound up with the theory… Continue reading UNDERSTANDING KATHAK

Nav ras in kathak

नव रस(Nav ras) भारत मुनि के अनुसार नृत्य में ८ रस मणि गई है । यह हैं -वीर ,श्रृंगार, करुण,हास्य,भयानक,रौद्र,वीभत्स और अद्भुत । इनमे जब शांत रस मिल जाता है तो इनकी संख्या ९ हो जाती है ।विद्वानों ने वात्सल्य और भक्ति रस को भी परिभाषित किया है पर इनका रसों में गिनती करना आज… Continue reading Nav ras in kathak

Bhaav in kathak

कत्थक नृत्य में रस और भाव का सम्बन्ध भारत मुनि के अनुसार रस के बिना कोई भी नाट्यांग अर्थपूर्ण नहीं होता । उन्होंने कहा था कि भावानुकूल शरीर कि अवस्था को ही नृत्य कहते हैं । नृत्य के दर्शकों के मन में रस उत्पन्न करना ही कलाकार का लक्ष्य है । और भावों से ही… Continue reading Bhaav in kathak

SECOND YEAR KATHAK THEORY

Second Year सूची (2nd Year) :- १)परिभाषाएं २)धवनि एवं नाद का साधारण ज्ञान ३)महाराज बिंदादीन और कलिका प्रसाद की जीवनी ४)तालों का पूर्ण परिचय ५)कत्थक नृत्य का संक्षिप्त इतिहास ६)हस्त मुद्राएं ७)प्रश्न पत्र के चुने हुए सवाल १)परिभाषाएं कवित्त और परमेलू(KAVITT AND PARMILU) – जब नृत्य के बालों के साथ कविता पखावज या नक्कारा आदि… Continue reading SECOND YEAR KATHAK THEORY

KATHAK DANCE FIRST YEAR THEORY

नमस्कार कथक नृत्य सीखने वाले विद्यार्थियों को शास्त्र का भी उचित ज्ञान होना आव्यशक है । यह प्रस्तुति प्रथम वर्षा के शास्त्र पाठ्यक्रमों को ध्यान में रखते हुए लिखी गयी है ।कुछ पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों में से चुने हुए सवालों का भी उत्तर प्रस्तुत किया गया है । विद्यार्थी यह ध्यान में रखे… Continue reading KATHAK DANCE FIRST YEAR THEORY

HI!

Hi! These are notes from my personal collection for students appearing for the Kathak dance examinations of first , second and third year.These have been compiled from various inputs(old notes, verbal explanation of my Guru, different books etc). I have uploaded these with the single and simple intention that it will be of help to… Continue reading HI!